खबरें बिहार

फ्रंट का गठन समाज की पुरानी गौरव गरिमा की पुनर्स्थापना

मुजफ्फरपुर (जनमन भारत संवाददाता)। भूमिहार ब्राह्मण समाजिक फ्रंट सामाजिक उत्थान एवं राजनैतिक सम्मान के लिए कटिबद्ध है । फ्रंट के द्वारा समाज को सशक्त एवं संघर्षशील बनाने के लिए राज्य स्तर पर अभियान शुरू कर दिया गया है। इस क्रम में 24 नवंबर को पटना में संपन्न हुए राज्य कार्यकारिणी एवं जिला अध्यक्षों की बैठक में संगठन हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं । राज्य स्तर पर फ्रंट का सदस्यता अभियान चलाना ,समाज के कमजोर परिवार के मेधावी बच्चों के लिए मुफ्त कोचिंग की व्यवस्था करना, भूमिहार परिवार के गरीब बेटा बेटियों का दहेज मुक्त शादी कराना, जातीय आधार पर प्रताड़ित व्यक्ति अथवा परिवार को हर स्तर पर मदद करना, आपदा काल में समाज के हर व्यक्ति को सहायता पहुंचाना ,अपने समाज के कमजोर लोगों को आधुनिक चिकित्सा प्रदान कराना, समाज को संगठित व मजबूत बनाकर दूसरे समाज के लिए उपयोगी बनाना, अपना जमीन को बचाए रख कृषि कार्य से जुड़े रखना आदि प्रमुख बिंदु पर मुख्य रूप से कार्य करने का निर्णय लिया गया ।

उक्त आशय की जानकारी देते हुए फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा एवं पूर्व मंत्री अजीत कुमार ने संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में दिया। नेताओं ने कहा कि हमारा समाज किसी वर्ग समूह या राजनीतिक दल को अछूत नहीं मानता है । फ्रंट का यह मानना है कि सामाजिक समन्वय के बाद ही हमारी राजनीतिक प्रसंगिकता बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि इस फ्रंट का गठन समाज की पुरानी गौरव गरिमा की पुनर्स्थापना सहित कई महत्वपूर्ण उद्देश्यों को लेकर राज्य स्तर पर हुआ है । इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा 101 सदस्य राज्य कार्यकारिणी की सूची जारी की गई।
इस अवसर पर संवाददाता सम्मेलन में फ्रंट के प्रमुख नेता धर्मवीर शुक्ला, पूर्व विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा, रविंद्र सिंह , डॉक्टर हरेंद्र कुमार, पीएन सिंह आजाद, प्रोफेसर अरुण कुमार, अरुण कुमार सिंह, संजय सिंह ,डॉ नवल किशोर सिंह ,शंभू शरण ठाकुर, हरे राम मिश्रा ,चंद्रदेव सिंह, लक्ष्मी नारायण सिंह ,सीपी सिंह, आशुतोष कुमार, श्री हृदय , गोपाल कृष्णआदि प्रमुख लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.