खबरें बिहार

दुनिया भर में परचम लहरा रहे बीएचयू से निकले लोग

-160 वीं जयन्ती मनाई गई
– 500 से अधिक लोगों का हुआ जुटान
– राजधानी में लगेगी मालवीय जी की प्रतिमा
पटना (जनमन भारत संवाददाता)। काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) से निकले छात्र देश ही नहीं दुनिया भर में अपना परचम लहरा रहे हैं। शिक्षा, स्वास्थ्य, संगीत, विज्ञान से लेकर सभी क्षेत्रों में मालवीय जी के वंशज अपनी प्रतिभा बिखेर रहे हैं। यह बातें सूबे के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कही। वे बीएचयू के पूर्ववर्ती छात्रों के एलुमिनी एसोसिएशन  की ओर की ओर से आयोजित पंडित मदन मोहन मालवीय की 160 में जयंती सह सम्मान समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि बीएचयू के संस्थापक मालवीय जी की आदमकद प्रतिमा राजधानी में लगाने के लिए खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कहेंगे। कहा कि महामना की प्रेरणा से ही बिहार सरकार ने यहां के प्रबंधन संस्थान, लॉ विवि और ज्ञान विश्विद्यालय का नाम चंद्रगुप्त, चाणक्य और आर्यभट्ट के नाम से किया है। महामना के मूल्यों के विकास को लेकर उप मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके बगिया के छात्र खुद अपनी कहानी बयां करते हैं।
महामना मालवीय मिशन के अध्यक्ष उदय सिंह ने कहा कि बीएचयू के संस्कार का ही प्रतिफल है कि सभी लोग अपने अपने क्षेत्र में भारत को बढ़ा रहे हैं। कार्यकारी अध्यक्ष बिपिन सिंह ने बताया कि बिहार में बीएचयू के पढ़े लिखे लोग नई इबारत लिख रहे हैं। आईजी जेल और वर्ष 2011 बैच के आईएएस मिथिलेश मिश्रा ने कहा कि बीएचयू से पढ़ना अपने आप में जीवन को नई दिशा देने जैसा है। आज वे जहां है, बीएचयू की ही देन है। आईआईटी के निदेशक प्रो टीएन सिंह ने अपने विवि के दिनों को याद किया। उधर बीएचयू से पढ़े लिखे 500 से अधिक छात्र छात्राओं ने पुराने दिनों को याद करते हुए मालवीय जी को याद किया। एलुमिनी एसोसिएशन से जुड़े लोगों ने मालवीय जी के कृतित्व और देश के उनके योगदान को भी याद किया। मौके पर मद्य निषेध के अधीक्षक संजय सिंह, आलोक सिंह, सत्या श्रीवास्तव, शिवजी चतुर्वेदी, रविन्द्र उपाध्याय, डॉ सोनाली, अश्वनी सिंह, रजनीकांत, अजीत सिंह बिसेन, अंकित, डॉ रंजीता, रविशंकर सिंह, सुमन कुमार,  समेत अन्य लोग रहे। कार्यक्रम में बीएचयू के कुलगीत मधुर मनोहर अतीव सुंदर…की सुमधुर प्रस्तुति ताना बाना की टीम ने दी। हंसी ठिठोली का दौर चला तो पुराने दिन लौट आये। उधर, महामना मालवीय मिशन ने बीएचयू से निकले सभी लोगों को एक मंच पर लाने का संकल्प भी लिया।
नामचीन लोगों का किया गया सम्मान:
सूबे के पूर्व उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने पूर्व मुख्य सचिव रामउपदेश सिंह को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया गया। अमेरिका के सन फ्रांसिस्को में वैज्ञानिक डॉ देवांश अर्पित को एनआरआई सम्मान दिया गया। उनका सम्मान उनके पिता राजेश अग्रवाल ने ग्रहण किया। इसके अलावा डॉ बीके अग्रवाल को चिकित्सा सम्मान, शिशिर सिन्हा को पत्रकारिता सम्मान, जेपी विवि के पूर्व वीसी प्रो हरिकेश सिंह को शिक्षा सम्मान, मालवीय सम्मान दरभंगा महाराज के वंशज कपिलेश्वर सिंह समेत अन्य लोगों को सम्मानित किया गया। सभी पुरस्कार उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.