खबरें बिहार

मानवाधिकार अधिवक्ता एस. के. झा के जीवन पर बने गीत का हुआ भव्य लोकार्पण

–बिहार राज्य मानवाधिकार आयोग के रजिस्ट्रार शैलेन्द्र कुमार सिंह ने एडवोकेट्स एसोसिएशन में किया लोकार्पण
–गाने पर झूम रहे हैं श्रोतागण
मुजफ्फरपुर (वरुण कुमार)। जिले के मानवाधिकार मामलों के अधिवक्ता एस. के. झा के जीवन पर बने गीत का लोकार्पण बिहार राज्य मानवाधिकार आयोग के निबंधक (अवकाश प्राप्त न्यायाधीश) शैलेन्द्र कुमार सिंह के द्वारा सिविल कोर्ट कैंपस स्थित एडवोकेट्स एसोसिएशन में किया गया। लोकार्पण समरोह में बिहार राज्य मानवाधिकार आयोग के निबंधक शैलेन्द्र कुमार सिंह बतौर अतिविशिष्ट अतिथि आमंत्रित थे।
उन्होंने गीत को लोकर्पित करते हुए कहा कि मानवाधिकार अधिवक्ता एस. के. झा मानवाधिकार के सजग प्रहरी है। मानवाधिकार के क्षेत्र में इनके द्वारा अबतक जो भी कार्य किए गये हैं, वह काफी सराहनीय हैं। मानवाधिकार के क्षेत्र में इनके द्वारा एक स्वर्णिम इतिहास रचा गया है। अबतक इन्होंने जो भी कार्य किए हैं, वे सभी काफी जनोपयोगी हैं। उन्होंने अधिवक्ता एस. के. झा के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। एडवोकेट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष रामशरण सिंह ने कहा कि अधिवक्ता एस. के. झा हमारे संघ के संपत्ति है और हमलोग हमेशा इनके साथ हैं। अधिवक्ता एस. के.झा ने अपने कार्य और मेहनत के बदौलत जो स्वर्णिम इतिहास बनाया है, वह युगों-युगों तक याद रखा जायेगा। वहीं एसोसिएशन के महासचिव वीरेन्द्र कुमार लाल ने कहा कि एस. के. झा हमारे संघ के धरोहर हैं और हम सब के अनमोल रतन हैं। हमलोग हमेशा इनके साथ हैं। वरीय अधिवक्ता विजय कुमार शाही ने कहा कि पुरे बिहार में मानवाधिकार अधिवक्ता एस. के. झा का नाम लोग काफी आदर और सम्मान के साथ लेते हैं। इनके द्वारा शोषितों, वंचितों के लिए जो आवाज़ उठाया जाता है, वह काबिल-ए-तारीफ़ है। जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रामकृष्ण ठाकुर उर्फ रामबाबू ठाकुर ने अधिवक्ता एस. के. झा के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला तथा उन्हें शुभकामनाएँ दी। वही अधिवक्ता एस. के.झा के जीवनी पर गीत लिखने वाले गीतकार डॉ. कुमार विरल ने कहा कि अधिवक्ता एस. के. झा का कार्यक्षेत्र काफी वृहद है, जिनपर हमलोगों की पूरी टीम ने काफी अध्ययन कर इस गीत को तैयार किया है। इस गीत को लोकगायिका दीपमाला ने स्वरबद्ध किया है। *विदित हो कि इस अवसर पर एस. के.झा की जीवनी पर आधारित एक स्कैनिंग पोस्टर भी जारी किया गया।
कार्यक्रम का संचालन समाजसेवी विवेक चंद्रा के द्वारा, अध्यक्षता वरीय अधिवक्ता रामशरण सिंह के द्वारा तथा धन्यवाद ज्ञापन वरीय अधिवक्ता वीरेन्द्र कुमार लाल के द्वारा किया। मौके पर अधिवक्ता मुकेश ठाकुर, प्रमोद कुमार ठाकुर, ब्रजेश कुमार, रामसरोज सिंह, अशोक कुमार, भोलेनाथ वर्मा, मनीष कुमार, संगीता कुमारी, टुन्ना सिंह, डॉ. विजयेश कुमार, मनोज वत्स, बृजेश मिश्रा, अशोक कुमार, वीरेन्द्र कुमार निराला, बिरेश प्रसाद सिंह सहित सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता, समाजसेवी एवं मानवाधिकार कार्यकर्त्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *