खबरें बिहार

सभी राजनीतिक दलों ने तुरहा जाति का सत्ता की भागीदारी से वंचित रखा है: सुबोध कुमार

मुजफ्फरपुर (वरुण कुमार)। तुरहा भवन न्यास  पटना के तत्वाधान में स्थानीय आम गोला रोड स्थित जलसा विवाह भवन में के कोने-कोने से तुरहा समाज के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। इसमें महिलाओं की भी जमकर भागीदारी रही। इस सभा का मुख्य उद्देश्य पटना में भव्य तुरहा भवन न्यास करना एवं सत्ता में तुरहा समाज की सम्मानजनक भागीदारी मिले।
इस सभा की अध्यक्षता ट्रस्ट के अध्यक्ष अमरनाथ साहा ने की एवं संचालन डॉक्टर महेश चंद्र प्रसाद एवं अधिवक्ता विजय कुमार द्वारा किया गया। सबसे पहले आगत अतिथियों एवं अकलू तुरहा विचार मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुबोध कुमार ने अमर शहीद अकलू तुरहा की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं उनकी शहादत को याद किया और सभी लोगों ने संयुक्त रूप से दीप जलाकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया।
 ट्रस्ट के अध्यक्ष अमरनाथ साहा ने इस अवसर पर कहा कि पटना में तुरहा समाज का भव्य निर्माण कार्य संपन्न होने जा रहा है। सभी से सहयोग अपेक्षित है। उपाध्यक्ष सुबोध कुमार ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों ने तुरहा जाति का सत्ता की भागीदारी से वंचित रखा है। अंतिम पंक्ति में खड़ा अत्यंत पिछड़ा तुरहा समाज सत्ता से कोसों दूर शून्य पर खड़ा है। जबकि तुरहा जाति की आबादी बिहार में 30 लाख से ऊपर है। उन्होंने सरकार से मांग किया कि तुरहा समाज को अविलंब समाज की मुख्य धारा से जोड़ा जाए एवं अनुसूचित जाति का दर्जा दे। सत्ता में हिस्सेदारी सुनिश्चित करें।
सभा को संबोधित करने वालों में द्वारिका साह, धर्मनाथ साह, राजेश देवा, कपूर चंद्र प्रसाद, अमरनाथ साह, विद्यासागर साह, श्रवण कुमार, विनोद कुमार, जितेंद्र कुमार, भीम साह, सुधीर साहिल, डॉ संजय कुमार, प्रोफेसर कमलेश कुमार, राकेश रंजन, ज्योति कुमारी, कविता रमण, अनीता देवी आदि शामिल थी। धन्यवाद ज्ञापन बिरजू कुमार ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *