खबरें बिहार

पब्लिक ऐप ने पूरे बिहार में 5.5 मिलियन से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं को जोड़ा

पटना (जनमन भारत संवाददाता)। पब्लिक, भारत का सबसे बड़ा स्थान – आधारित सामाजिक नेटवर्क ने बिहार को भारत में अपने विकास पथ में शीर्ष योगदानकर्ताओं में से एक घोषित किया। बिहार भर में 5.5 मिलियन उपयोगकर्ताओं द्वारा हर माह 1.2 लाख वीडियो अपलोड करने के साथ पटना, मुजफ्फरपुर और गया जैसे शहर बिहार से ऐप पर सबसे सक्रिय क्षेत्र बन गए। बिहार के कुछ शीर्ष राजनेता जो लोगों से जुड़ने के लिए पब्लिक का व्यापक रूप से उपयोग करते हैं, वे हैं चिराग पाश्वान, जितन राम मांझी, रेनू देवी, जयराम विप्लव, आलोक रंजन और नितीश कुमार। कोविड-19 के प्रकोप के दौरान, पब्लिक ने बिहार में सत्यापित जानकारी के प्रसार में राजनीतिक नेताओं, सरकारी अधिकारियों, मीडिया और नागरिक पत्रकारों के लिए एक महत्वपूर्ण मंच के रूप में काम किया।

बिहार को एक महत्वपूर्ण बाजार बताते हुए, पब्लिक ऐप की चीफ कंटेंट ऑफिसर, ट्विशी वत्स ने कहा, बिहार पब्लिक की विस्तार यात्रा में एक महत्वपूर्ण भूमिका रखता है और हमारे लिए एक प्रमुख मार्केट है । प्लेटफॉर्म पर मौजूद 60 मिलियन से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं में से 5.5 मिलियन उपयोगकर्ता बिहार से हैं। बिहार से ऐप पर बनाई और अपलोड की जाने वाली अधिकतर कंटेंट या तो अपराध पर या तो राजनीति पर है। हमें यह देखकर खुशी है कि कैसे पब्लिक ऐप ने लाखों नागरिकों के जीवन में बदलाव लाया है और सत्यापित और विश्वसनीय जानकारी का उनका पसंदीदा स्रोत बन गया है। आने वाले समय में भी हम अपने उपयोगकर्ताओं के लिए एक सहज अनुभव सुनिश्चित करना चाहते हैं।

राजस्थान पहला भारतीय राज्य था जहां पब्लिक ऐप को उसके बीटा चरण में लॉन्च किया गया था। अप्रैल 2019 में, प्लेटफॉर्म केवल राजस्थान के 5 जिलों में उपलब्ध था। सबके द्वारा अभूतपूर्व प्रतिक्रिया प्राप्त करने के बाद, पब्लिक ने केवल एक महीने में ही पूरे राज्य में अपना विस्तार कर लिया। उसके बाद पब्लिक ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। पब्लिक ने 2019 के अंत में बिहार में अपने परिचालन का विस्तार किया और तब से इसे बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है।

इस वर्ष की पहली तिमाही के दौरान पब्लिक ने बिहार के स्थानीय व्यवसायों को अपने ग्राहकों को भू.लक्षित करने के लिए एक मंच प्रदान किया। व्यवसायों को अपने उत्पादों को हिंदी में, जो उस क्षेत्र में सबसे अधिक उपयोग की जाने वाली भाषा है, में डिजिटल रूप से प्रचारित करने का अवसर मिला। केवल कुछ महीनों की अवधि में, पब्लिक अब तक 3000़ स्थानीय ब्रांडों के साथ जुड़ चुका है और अगले साल की शुरुआत तक 6000़ से अधिक का लक्ष्य है। इन हाइपरलोकल विज्ञापनों के माध्यम से, वे न केवल अपनी डिजिटल उपस्थिति बढ़ा रहे हैं बल्कि अपने दर्शकों पर भी गहरा प्रभाव डाल रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.