खबरें बिहार

फिल्म अभिनेता अक्षत उत्कर्ष के मामले में हुई सुनवाई

–अक्षत उत्कर्ष के चाचा विक्रांत किशोर ने यश मेहता समेत आठ लोगों के विरुद्ध पैसे गवन करने का लगाया था आरोप
–परिवादी की ओर से मानवाधिकार अधिवक्ता एस. के. झा ने रखा अपना पक्ष
–2 अगस्त को होगी अगली सुनवाई
मुजफ्फरपुर (जनमन भारत संवाददाता)। जिले के फिल्म अभिनेता अक्षत उत्कर्ष के मामले में आज व्यवहार न्यायालय मुजफ्फरपुर में सुनवाई हुई। मामले के संबंध में अक्षत उत्कर्ष के चाचा विक्रांत किशोर ने यश मेहता समेत आठ लोगों के विरुद्ध पैसे गवन करने का आरोप लगाया है जिसके संबंध में उनके द्वारा परिवाद दाखिल किया गया था परिवादी के द्वारा बताया गया कि यश मेहता अक्षत उत्कर्ष का फर्जी रूम मालिक बनकर अक्षत उत्कर्ष के पिता से हर माह पैसे की उगाही करता रहा। परिवाद पत्र में यश मेहता के साथ स्नेहा चौहान, इशिता, विथिका, किरण सिंह, सुमन सिंह, किशोर ठक्कर एवं सोनू रेलवानी उर्फ सोनू सिंह के विरुद्ध यह आरोप है कि इन सभी लोगों ने मिलकर अक्षत उत्कर्ष से लाखों रुपए की ठगी किया है तथा अक्षत के परिजनों को गफलत में रखकर पैसे का उगाही किया। इस मामले में परिवादी की ओर से सभी गवाहों की गवाही हो चुकी है। संज्ञान के बिंदु पर आज अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी – 10 (पूर्वी) के न्यायालय में बहस हुई। परिवादी की ओर से मानवाधिकार मामलों के अधिवक्ता एस. के. झा ने अपना पक्ष रखा। अदालत ने पूरे मामले को काफी गंभीरतापूर्वक सुना। न्यायालय के द्वारा इसमें अगली तिथि को भी सुनवाई होगी, जिसके लिए 2 अगस्त की तिथि निर्धारित की गई है। मानवाधिकार अधिवक्ता एस. के. झा ने बताया कि आरोपितों के द्वारा अक्षत के परिजनों से काफी मात्रा में पैसे की उगाही की गई है और इसके लिए पर्याप्त साक्ष्य मौजूद है। मुझे न्यायालय पर पूरा भरोसा है। अक्षत के  परिजनों को न्याय अवश्य मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.