खबरें बिहार

जिस हिसाब से आबादी बढ़ रही है उस हिसाब से ट्रेनें भी बढ़नी चाहिए: राधा मोहन सिंह

मुजफ्फरपुर (जनमन भारत संवाददाता)। आबादी के हिसाब से उत्तर बिहार के यात्रियों के लिए ट्रेनें बढ़नी चाहिए, लेकिन रेल लाइन के अभाव में ट्रेनें नहीं बढ़ पा रहीं। मुजफ्फरपुर-नरकटियागंज डबल रेल लाइन होते ही मुजफ्फरपुर सहित उत्तर बिहार में ट्रेनें बढ़ाई जाएंगी। ये बातें रविवार को बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस से कानपुर जाने के दौरान मुजफ्फरपुर जंक्शन पर रेलवे संसदीय स्थाई समिति के अध्यक्ष सह पूर्वी चंपारण के सांसद राधा मोहन सिंह ने पत्रकारों से कहीं। उन्होंने कहा कि जिस हिसाब से आबादी बढ़ रही है उस हिसाब से ट्रेनें भी बढ़नी चाहिए थीं। इस पर रेलमंत्री से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि रेल भूमि विकास प्राधिकरण द्वारा मुजफ्फरपुर सहित देश के कई रेलवे स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास लुक दिया जा रहा है।

मुजफ्फरपुर स्टेशन की तस्वीर भी आने वाले दो वर्षों में बदल जाएगी। जून में टेंडर की प्रक्रिया पूरी होगी। उसके बाद जुलाई से निर्माण कार्य प्रारंभ हो जाएगा। मुजफ्फरपुर जंक्शन के अलावा आसपास के रेलवे कालोनियों को भी अपार्टमेंट की तरह सुंदर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जेपी सेतु बनने के बाद पटना की ओर से भी ट्रेनों का परिचालन होना चाहिए। इससे यात्रियों को समय की बचत होगी।इससे रेलवे को भी फायदा मिलेगा। गंतव्य स्टेशन तक ट्रेनें पहुंचने से यात्री समय से कुछ काम कर पाएंगे।बता दें कि पिछले साल सितंबर में रेलवे संसदीय दल में शामिल 32 सांसदों की टीम यहां माड़ीपुर स्थित एक होटल में पूर्व मध्य रेल के जीएम सहित उच्चाधिकारियों के साथ तीन दिवसीय बैठक की थी। उसमें 16 वर्षों से लंबित हाजीपुर-सुगौली रेलखंड परियोजना, सोनपुर-थावे सहित कई अन्य रेल परियोजनाओं की जानकारी लेकर कर रेल मंत्रालय को भेजा गया। लेकिन अभी तक उस दिशा में अब तक क्या कार्रवाई हुई, यह बात सार्वजनिक नहीं हो सकी है। मौके पर भाजपा के वरिष्ठ नेता रविन्द्र प्रसाद सिंह, डा. अशोक कुमार शर्मा, देवांशु किशोर, स्टेशन निदेशक मनोज कुमार, स्टेशन अधीक्षक अखिलेश कुमार सिंह सहित कई लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.