खबरें बिहार

सही समय पर हो निः संतानता का इलाज : डॉ. आशुतोष शरण

मोतिहारी (जनमन भारत संवाददाता)। देश की सबसे बड़ी फर्टिलिटी चैन इन्दिरा आईवीएफ ने उच्च सफलता दर के साथ एक लाख सफल आईवीएफ प्रक्रियाएं पूरी करने का गौरव हासिल किया है। इस अवसर पर इन्दिरा आईवीएफ मोतिहारी सेंटर में नन्हीं खुशियां थीम पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में मोतिहारी आईएमए अध्यक्ष डॉ. आशुतोष शरण उपस्थित रहे। कार्यक्रम में केक काटकर उपचाररत और लाभान्वित दम्पतियों को उपहार बांटे गये।


अपने संबोधन में मुख्य अतिथि मोतिहारी आईएमए अध्यक्ष डॉ. आशुतोष शरण ने कहा कि निःसंतानता को लेकर व्यापक जागरूकता अभियानों तथा उपचार केन्द्रों की आवश्यकता है। इन्दिरा आईवीएफ बेहतर सुविधाओं को रियायती दरों में दम्पतियों को उपलब्ध करा रहा है जो की बहुत हीं सराहनीय कार्य है। उन्होंने बताया कि इन्दिरा आईवीएफ ने निःसंतानता के उपचार में हो रहे नवाचारों को अपनाया है जिससे दम्पतियां को अधिक लाभ हो रहा है।
मौके पर उपस्थित इन्दिरा आईवीएफ के बिहार हेड डॉ. दयानिधि शर्मा ने बताया कि भारत में संतान प्राप्ति की इच्छा रखने वाले 10-15 फीसदी दम्पती निःसंतानता से प्रभावित है, जिसके कारण परिवारों में बिखराव बढ़ रहा है जबकि इसका उपचार आईवीएफ के रूप में उपलब्ध है लेकिन जागरूकता के अभाव में मात्र एक प्रतिशत दम्पती ही इस इलाज को अपना पाते हैं। उन्होंने कहा कि दम्पति सोच . विचार व टालमटोल में अपने उम्र के महत्वपूर्ण वर्ष गवां देते हैं, लेकिन निःसंतानता के उपचार के लिए उचित समय पर व सही दिशा में उठाया गया कदम फायदेमंद साबित हो सकता है। एक लाख सफल आईवीएफ प्रोसिज़र के सेलिब्रेशन के लिए सेंटर में इलाजरत और लाभान्वित दम्पतियों को बुलाया गया और उनके साथ विभिन्न तरह कि गतिविधियां की गयी। उन्होंने कहा कि बिहार के सभी जिलों में इन्दिरा आईवीएफ सेंटर खोलने की हमारी योजना हैए जो भी डॉक्टर हमसे जुरना चाहते हैं वो इन्दिरा आईवीएफ से संपर्क कर सकते हैं। कार्यक्रम में बारे में बताते हुए इन्दिरा आईवीएफ मोतिहारी सेंटर हेड डॉ. मोहशिना ने बताया कि पूरे अप्रैल महीने में निःशुल्क निःसंतानता परामर्श शिविर का आयोजन किया जा रहा है जिसमें दम्पति निःसंतानता से सम्बंधित समस्याओं को लेकर निःशुल्क परामर्श प्राप्त कर सकते हैं।

इस अवसर पर अपने संदेश में में इन्दिरा आईवीएफ ग्रुप के संस्थापक और चेयरमैन डाॅ. अजय मुर्डिया ने कहा कि देश में 107 केंद्रों के माध्यम से हमारा प्रयास है कि दम्पतियों को रियायती दरों में श्रेष्ठ निःसंतानता उपचार उनके आसपास उपलब्ध हो। इंदिरा आईवीएफ ग्रुप के सीईओ व सह संस्थापक डॉ. क्षितिज मुर्डिया ने बधाई देते हुए कहा कि अत्याधुनिक तकनीकों, चिकित्सा और आईवीएफ विशेषज्ञों कि कुशलता से इंदिरा आईवीएफ ने आईवीएफ प्रक्रियाओं में असाधारण सफलता दर हासिल की है। वहीं इंदिरा आईवीएफ ग्रुप के सह संस्थापक व निदेशक डॉ. नितीज मुर्डिया ने नवीन आविष्कारों पर जोर देते हुए कहा कि आज के दौर में आईवीएफ में 70.75 प्रतिशत सफलता दर प्राप्त की जा सकती है। जो कपल्स कुछ वर्षों बाद संतान सुख चाहते हैं वे क्रायोप्रिजर्वेशन सुविधा का लाभ ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.