खबरें बिहार

बिहार में मेगा टेक्सटाइल पार्क और अन्य उद्योगों के लिए पूरी मदद करेंगे – पीयूष गोयल

–आईएनए दिल्ली हाट में बिहार उत्सव का शुभारंभ कर बोले केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग एवम् कपड़ा मंत्री  – बिहार में कुछ कर दिखाने की क्षमता है
–‘कपड़ा तो सब पहने ला छलकावे ला कोई कोई’, ऐसे ही बिहार को अब देश का टेक्सटाइल हब बनाना है: गिरिराज सिंह
–मेगा औद्योगिक पार्क के निर्माण से बिहार अब विकास की राह पर नया कृतिमान स्थापित कर रहा है: शाहनवाज हुसैन
नई दिल्ली। बिहार में प्रधानमंत्री मित्र मेगा टैक्सटाइल पार्क के लिए पूरी मदद करेंगे। बिहार में टेक्सटाइल व अन्य उद्योगों को खड़ा करने के लिए केंद्र से पूर्ण सहयोग मिलेगा। बिहार में अपार संभावनाएं हैं और कुछ कर दिखाने का माद्दा है। यह बातें भारत सरकार के वाणिज्य व उद्योग एवं कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने बिहार दिवस के मौके पर INA दिल्ली हाट में आयोजित बिहार उत्सव कार्यक्रम के शुभारंभ के मौके पर कही।
 दिल्ली हाट में बिहार दिवस के मौके पर भव्य बिहार उत्सव का आयोजन हुआ। इसका शुभारंभ केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किया और मुख्य अतिथि के रूप में भारत सरकार में बिहार से कई मंत्री और सांसद शामिल हुए। बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन की अध्यक्षता में दिल्ली हाट में आयोजित बिहार उत्सव कार्यक्रम में केंद्र सरकार के जो मंत्री शामिल हुए उनमें शामिल हैं केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग एवं कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव, केंद्रीय पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह, केंद्रीय इस्पात मंत्री आर.सी.पी सिंह, केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ।
बिहार उत्सव कार्यक्रम में संसद में बिहार का प्रतिनिधित्व कर रहे कई सांसद भी शामिल हुए। बिहार उत्सव में शामिल होने वाले प्रमुख नाम रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद रामकृपाल यादव, राज सभा सांसद गोपाल नारायण सिंह, कटिहार सांसद दुलाल चंद्र गोस्वामी, जहानाबाद सांसद चंद्रेश्वर प्रसाद, सांसद मोहम्मद जावेद, अररिया सांसद प्रदीप सिंह, दरभंगा सांसद गोपाल जी ठाकुर, शिवहर सांसद रमा देवी, झंझारपुर से सांसद रामप्रीत मंडल, गया से सांसद विजय कुमार मांझी, नालंदा से सांसद कौशलेंद्र कुमार, जदयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी, विधान परिषद सदस्य संजय मयूख व अन्य।
उद्घाटन समारोह एवं अतिथियों द्वारा बिहार के नायाब व उत्कृष्ट हस्तशिल्प एवं हस्तकरघा उत्पादों के स्टॉलों के परिभवन एवं अतिथियों के संभाषणों के बाद सांस्कृतिक संध्या में मशहूर गायक व सांसद मनोज तिवारी ने अपनी प्रस्तुती से सभी को मंत्र-मुग्ध कर दिया।
केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग एवं कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने बिहार स्थापना दिवस समारोह पर बोलते हुए कहा कि बिहार अब प्रचुण क्षमताओं वाला राज्य है। बिहार की क्षमता का अभी भी सही मायने में इस्तेमाल नहीं हुआ है। परिवर्तन का बिगूल जब-जब बजा है वो बिहार से ही बजा है। अब वह चाहे सत्याग्रह आदोंलन का बिगुल हो, जिसे महात्मा गांधी ने चंपारण से शुरु किया या फिर आपातकाल के खिलाफ संपूर्ण क्रांति हो, जिसे भारत रत्न जय प्रकाश नारायण के नेतृत्व में बिहार से ही शुरु किया गया। इसी के साथ मैं चाहता हूं कि वर्षों-वर्षों तक जो विकास से वंचित है, उस पूर्वोंचल का विकास करना है। बिहार अब उद्योग और टेक्सटाइल के क्षेत्र में आगे बढ़ेगा। यही संदेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी है। बिहार की क्षमता को अभी भी पुरी दुनिया ने ठीक पहचाना नहीं है। लीची और आम बिहार और देश के साथ अब दुनिया में भी पहुंच रहा है। मैं सभी बिहारवासियों का ऋणी हूं। आज आप रेलवे स्टेशन पर मधुबनी पेंटिंग बनी हुई देख सकते हैं, इससे सुंदर और क्या हो सकता है।
केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने बिहार उत्सव समारोह में जुटे लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार से मेरा विशेष लगाव है। उन्होंने कहा कि हमने बिहार वासियों को पूरे देश में अपनी पहचान के लिए ईमानदारी और मेहनत से काम करते हुए देखा है और पूरा भरोसा है बिहारी अपने दम पर अपने राज्य के साथ साथ देश को भी नए मुकाम तक पहुंचा सकते हैं।
बिहार उत्सव 2022 पर केंद्रीय पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा जय बिहार सभी भाईयों को, आज मैं एक ही आग्रह करूंगा कि ‘कपड़ा तो सब पहने ला छलकावे ला कोई कोई’, ऐसे ही बिहार को अब देश का टेक्सटाइल हब बनाना है। यही मेरी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल से आग्रह है।
केंद्रीय इस्पात मंत्री आर.सी.पी सिंह ने सभी को धन्यवाद देते हुए कहा दुनिया का इतिहास बिहार का इतिहास है। पहले गणतंत्र वैशाली में आया। बिहार का इतिहास बहुत समृद्ध है। मगध का जामाना देखिए बिहार में,  इतिहास में बिहार सत्ता, ज्ञान का केंद्र रहा है। बिहार की जमीन की कोई तुलना नहीं है। हमें फिर से बिहार को बिहार बनाना है।
केंद्रीय खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने पहले बिहार की जय हो का नारा बुलंद किया। फिर कहा कि एक बिहारी 100 पर भारी है और एक और एक मिलाकर 11 बिहारी हो जाते हैं। बिहार सबसे निराला है और आने वाले दिनों में बिहार सभी से आगे निकलेगा।
बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा दिल की गहराइयों से स्थापना दिवस पर पधारे सभी केंद्रीय मंत्री और सांसद का स्वागत करता हूं। यह बात मेरे दिल में घर कर गई है। अमृतसर-कोलकाता कॉरिडोर में स्थित चंपारण में मेगा टेक्सटाइल मैत्री पार्क के लिए 1719 एकड़ की जमीन का अलोटमेंट हो चुका है, माननीय मुख्यमंत्री नीतीश जी के नेतृत्व में यह बिहार के लिए बड़ी उपलब्धि है।  मेगा औद्योगिक पार्क के निर्माण से बिहार अब विकास की राह पर नया कृतिमान स्थापित करते हुए पूर्वांचल भारत का औद्योगिक हब के रूप में अपनी पहचान बनाने की ओर आगे बढ़ रहा है।
बिहार उत्सव 2022 से जुड़ी जानकारी देते हुए बिहार सरकार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने बताया कि इस बार बिहार दिवस का समारोह भी आजादी के अमृत महोत्सव के तर्ज पर ही किया जा रहा है। इस वर्ष बिहार दिवस का विषय जल जीवन हरियाली पर आधारित है। जिससे सभी को जल जीवन हरियाली के तहत बिहार में किए जा रहे विकास के बारे में अवगत करवाया जाएगा।
बिहार स्थापना दिवस के एवं बिहार उत्सव के उद्घाटन के बाद आयोजित संस्कृतिक संध्या में मशहूर गायक व सांसद मनोज तिवारी ने अपने संगीतों की प्रस्तुति से लोगों का उत्साह वर्धन किया। सांस्कृतिक संध्या में मनोज तिवारी के अलावा मशहूर लोक गायिका विजया भारती और स्वर्णिम कलाकेंद्र मुज्जफरपुर द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम में अपनी-अपनी प्रस्तुति दी। जिससे बिहार उत्सव 2022 के समारोह में चार चांद लग लगा।
बिहार उत्सव 2022 के मौके पर सभी को संबोधन करते हुए बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने इस मौके पर सभी बिहार वासियों और बिहार वासियों के मित्रों को धन्यवाद किया। बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा मेक इन बिहार अब मेक इन इंडिया के तर्ज पर आगे बढ़ रहा है। मंत्री शाहनवाज हुसैन ने कहा अब बिहार का मकसद है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार में स्थापित उद्योग से बने उत्पादों को देश के कोने-कोने तक पहुंचाना।
आई.एन.ए. दिल्ली हाट में 59 से अधिक बिहार के हस्तशिल्प एवं हस्तकरघा उत्पादों के स्टॉल लगाए गए थे। इसमें मुख्य रुप से बिहार के हैंडलूम उत्पाद के 21 स्टॉल, 9 स्टॉल मधुबनी पेंटिंग, 3 स्टॉल लेदरक्राफ्ट, 2 स्टॉल सुजनी क्राफ्ट, 2 स्टॉल लाह शिल्प, आर्टिफिशियल ज्वेलरी, मखाना और बंबू क्राफ्ट आदि के स्टॉल लगे हुए थे।
‘बिहार उत्सव 2022’ में आए सभी महानुभावों ने स्वादिष्ट बिहारी व्यंजनों का भर-पूर स्वाद लिया। इस दौरान लिट्टी चोखा से लेकर दही जलेबी तक तरह-तरह के सुप्रसिद्ध बिहारी व्यंजन खाने का स्टॉल लगा हुआ था।
उद्योग विभाग, बिहार सरकार के अंतर्गत आई.एन.ए दिल्ली हाट में 16 मार्च 2022 से 31 मार्च 2022 तक ‘बिहार उत्सव प्रदर्शनी’ का आयोजन किए जा रहा है। सभी देशवासियों से बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने आग्रह किया कि वह जरुर अपना समय निकाल कर यहां आएं और बिहार के चौ-तरफा उद्भव के साक्षी बनें।
प्रधान सचिव. संदीप पौण्डरीक, उद्योग विभाग, बिहार ने बिहार उत्सव के समापन पर सभी माननीय अतिथियों को धन्यवाद किया।
‘बिहार उत्सव 2022’ के इस अवसर पर बिहार उद्योग मंत्रलायल से उद्योग निदेशक रुपेश कुमार श्रीवास्तव, बीयाडा के ई.डी. भोगेंद्र लाल, बिहार सरकार के उप उद्योग निदेशक सह मेला प्रभारी बिशेश्वर प्रसाद, संजय श्रीवास्तव, विभाग के सुधांषु भूषण कुमार, गौतम कुमार, संजीत कुमार, रवि शंकर कुमार, अजय कुमार आदि उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.