खबरें बिहार

हर्षोल्लास के साथ मनाया गया बिहार दिवस -2022

मुजफ्फरपुर (जनमन भारत संवाददाता)। बिहार  के 110 वें स्थापना दिवस के अवसर  पर जिला प्रशासन मुजफ्फरपुर के द्वारा कई कार्यक्रम आयोजित किए गए। पूरे जिले में बिहार दिवस का आयोजन  हर्षोल्लास और उत्साह के साथ किया गया।
 आज सुबह स्कूली छात्र छात्राओं एवं पदाधिकारियों के द्वारा खुदीराम बोस स्टेडियम से समाहरणालय परिसर तक प्रभात फेरी का आयोजन किया गया जिसे जिलाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर रवानगी की। भारत माता पार्क में जिलाधिकारी तथा अन्य वरीय पदाधिकारियों के द्वारा गुब्बारे छोड़े गए। समाहरणालय  परिसर में अवस्थित बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर जिलाधिकारी ,उप विकास आयुक्त सहित अन्य वरीय पदाधिकारियों ने माल्यार्पण किया।
 10:30 बजे स्थानीय खुदीराम स्टेडियम में  बिहार दिवस का विधिवत उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर जिलाधिकारी महोदय के द्वारा किया गया।
उद्घाटन के मौके पर जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार ने विश्व के प्रथम लोकतंत्र ,अहिंसा, सद्भाव, करुणा व प्रेम संदेश देने वाली ज्ञान एवं संघर्ष की भूमि बिहार के 110 में स्थापना दिवस पर मुजफ्फरपुर वासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी।
 उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि बिहार की धरती ज्ञान एवं मोक्ष की धरती रही है। यहां से ज्ञान का प्रकाश दुनिया भर में फैला। कहा कि हमें बिहार को उसी गौरवशाली ऊंचाई तक पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के बगैर भारत का इतिहास अधूरा है  बिहार के ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहरों को सहेजने और संरक्षित करने की भी जरूरत है ताकि परंपरा को प्रगति से जोड़कर इतिहास को आगे ले जाया जा सके  उन्होंने कहा कि अपने अतीत को जानना इसलिए जरूरी है कि इससे हमें गौरव  होता है और भविष्य गढ़ने में मदद मिलती है। जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज हमारा बिहार बदल रहा है।  जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में बिहार के लोग सफलता का परचम लहरा रहे हैं। बिहार लगातार प्रगति के पथ पर आगे बढ़ रहा  है।
जिलाधिकारी के संबोधन के पश्चात छात्र-छात्राओं का विभिन्न दौड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। बोरा दौड़,  सुई धागा दौड़ और नींबू दौड़ तथा म्यूजिकल चेयर गेम काआयोजन किया गया। विजेताओं को जिलाधिकारी तथा अन्य अधिकारियों द्वारा पुरस्कृत भी किया गया।
  *सांस्कृतिक कार्यक्रम का हुआ आयोजन।*
बिहार  दिवस के मौके पर खुदीराम बोस स्टेडियम में मुजफ्फरपुर के कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति की गई जिसमें कलाकारों ने कला का अलग-अलग रंग बिखेरा। अंजली कुमारी द्वारा स्वागत गीत की प्रस्तुति की गई। वही शिवानी कुमारी एवं अंजली यादव ने बिहार के गौरव पर मधुर लोक गीत की प्रस्तुति की।
 कार्यक्रम में नंदिनी सिन्हा ने लोक गीत की प्रस्तुति  वहीं आरपीएस शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय के द्वारा बिहार के विरासत पर ड्रामा का प्रदर्शन किया गया। मुजफ्फरपुर के उभरते हुए कलाकार महफूज और सदाकत ने सूफियाना अंदाज में गीत की प्रस्तुति की ।वही आयुषी एवं शेखर अरोड़ा ने युगल गीत गाकर लोगों को झूमने पर मजबूर किया।
*मेरी रफ़्तार पे सूरज की किरण नाज करे*
बिहार प्रार्थना गीत की प्रस्तुति एम०आर चिश्ती के द्वारा की गई।।
 संध्या 6:30 बजे समाहरणालय परिसर में रंगोली एवं  दीपोत्सव कार्यक्रम के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। मुजफ्फरपुर के कलाकार मिश्री लाल यादव ने नशाबंदी,दहेज प्रथा, बाल विवाह  एवं शिक्षा पर आधारित गीत प्रस्तुत कर लोगों की वाहवाही लूटी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.