खबरें बिहार

महिलाएं घर की चारदीवारी से लेकर शेल्टर होम तक में सुरक्षित नहीं हैं: साधना मिश्रा

मुजफ्फरपुर (जनमन भारत संवाददाता)। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन की ओर से मोतीझील स्थित संगठन के सभागार में आज एक सभा का आयोजन किया गया। सभा की अध्यक्षता पूर्व जिला पार्षद इंदू राय ने किया तथा संचालन संगठन की जिला प्रभारी कंचन कुमारी ने किया। सभा को संबोधित करते हुए एआईएमएसएस की पूर्व बिहार राज्य सचिव साधना मिश्रा ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष बीतने के बाद भी आज महिलाएं एक तरफ पूंजीवादी व्यवस्था तो दूसरी तरफ पुरुष प्रधान समाज के दोहरे शोषण का शिकार हैं।महिलाएं घर की चारदीवारी से लेकर शेल्टर होम तक में सुरक्षित नहीं हैं। कामकाजी महिलाओं के साथ भी दोयम दर्जे का व्यवहार किया जा रहा है। आशा, आंगनबाड़ी तथा मध्याह्न भोजन योजना आदि में कार्यरत स्कीम वर्कर्स महिलाओं से सरकार मामूली मानदेय पर काम ले रही है। वहीं प्रचार माध्यमों में अश्लीलता नग्नता परोस कर महिलाओं को उपभोग की वस्तु में तब्दील कर दिया गया है। इन सब समस्याओं के खिलाफ महिलाओं को संगठित होकर पुरुष प्रधान सामंती शोच के खिलाफ सांस्कृतिक आंदोलन चलाते हुए पूंजीवादी व्यवस्था के खिलाफ जोरदार संघर्ष छेड़ने का उन्होंने आह्वान किया। सभा को प्रीति सागर, इंदु देवी, मुखिया साधना झा, प्रेमा देवी, सिंधु कुमारी, रेखा कुमारी, जयशिला, गायत्री देवी, वीणा देवी, प्रभादेवी, नीतू देवी, सरपंच गीता देवी, प्रतिभा राय, शारदा देवी, ज्योति देवी, अंजली कुमारी, राधा देवी, वंदना देवी आदि ने संबोधित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.